इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में भाग लेने वाले ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के क्रिकेटरों ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) से अनुरोध किया है कि संयुक्त अरब अमीरात (UAE) पहुंचने के बाद छह दिनों की क्वॉरंटीन अवधि को कम कर तीन दिनों का किया जाए ताकि वे टूर्नमेंट की शुरुआत से चयन के लिए उपलब्ध रहे। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच सीमित ओवरों की जारी मौजूदा सीरीज में दोनों देशों के ऐसे 21 खिलाड़ी हैं, जो चार्टर्ड विमान से मैनचेस्टर से 17 सितंबर को यूएई पहुचेंगे।

सौरभ गांगुली की पास लगी अर्जी

मौजूदा क्वॉरंटीन नियमों के तहत वे चयन के लिए 23 सितंबर से उपलब्ध रहेंगे जबकि टूर्नमेंट 19 सितंबर से शुरु होगा। बड़े शॉट लगाने के लिए मशहूर एक बल्लेबाज ने इन खिलाड़ियों की तरफ से बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली से अनुरोध किया है कि क्वॉरंटीन अवधि को तीन दिनों का किया जाए। टूर्नमेंट की तैयारियों की देखरेख के लिए गांगुली बोर्ड के अन्य पदाधिकारियों के साथ यूएई में है। उनसे इस मामले में प्रतिक्रिया नहीं मिल पायी लेकिन बोर्ड के एक सूत्र ने बताया कि ऐसी मांग की गयी है।

इसलिए नियम में बदलाव की मागी

सूत्र ने कहा, ‘हां, बीसीसीआई अध्यक्ष को एक अनुरोध प्राप्त हुआ है। यह एक खिलाड़ी द्वारा लिखा हो सकता है, लेकिन इससे इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के सभी खिलाड़ी इत्तेफाक रखते हैं। इन खिलाड़ियों को लगता है कि वे पहले से ही ऑस्ट्रेलिया और फिर ब्रिटेन में बायो-बबल (जैव-सुरक्षित माहौल) में हैं। ऐसे में यह तर्कसंगत होगा कि उन्हें एक बायो-बबल से दूसरे में प्रवेश करने की अनुमति दी जाए। वे सभी बायो-बबल के बाहर किसी के संपर्क में नहीं आए हैं।

दोनों टीमें कड़े नियमों के साथ खेल रही सीरीज

सूत्र ने कहा, ‘ये खिलाड़ी साउथैम्पटन और मैनचेस्टर, दोनों जगह हिल्टन होटल में रुके थे, जो स्टेडियम का एक हिस्सा है। उनका हर पांचवें दिन परीक्षण जा रहा हैं और यहां तक कि ब्रिटेन से उनके प्रस्थान के दिन भी परीक्षण किया जाएगा। यहां पहुंचने के पहले और तीसरे दिन भी जांच होगी।’ उन्होंने कहा, ‘अगर आप इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की सुरक्षा इंतजाम को देखेंगे, तो खिलाड़ियों के कमरों में सफाईकर्मियों को भी जाने अनुमति नहीं है। इसके अलावा वे वाणिज्यिक नहीं बल्कि एक चार्टर्ड विमान से आयेंगे।’

सबसे ज्यादा राजस्थान रॉयल्स का नुकसान

उन्होंने यह नहीं बताया कि इस अनुरोध को स्वीकार किया जाएगा या नहीं लेकिन कहा, ‘उनका यह तथ्य मजबूत है कि वे एक बायो-बबल से दूसरे में प्रवेश करना चाहते हैं।’ कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) को छोड़कर सभी टीमों पर छह दिनों के इस क्वॉरंटीन नियम का असर पड़ेगा। केकेआर का पहला मैच 23 सितंबर को मुंबई इंडियंस के खिलाफ है। इसका सबसे ज्यादा नुकसान राजस्थान रॉयल्स को होगा जिसे पहले से ही बेन स्टोक्स की कमी महसूस हो रही है।

कप्तान और आर्चर का भी नहीं मिलेगा साथ

नियमों में अगर बदलाव नहीं हुआ तो जोफ्रा आर्चर, जोस बटलर और स्टीव स्मिथ शुरुआती मुकाबले के लिए टीम का हिस्सा नहीं होंगे। सनराइजर्स हैदराबाद को कप्तान डेविड वॉर्नर के अलावा सलामी बल्लेबाजी में उनके जोड़ीदार जॉनी बेयरस्टो के बिना पहला मैच खेलना होगा। चेन्नै सुपर किंग्स को पहले दो मैचों में जोश हेजलवुड और सैम करन की सेवाएं नहीं मिलेंगी।