हेलो फ्रेंड्स कैसे हो आप लोग आशा करता हूं आप सब लोग अच्छे होंगे मैं भी ईश्वर की कृपा से अच्छा हूं l आज मैं बात करने जा रहा हूं इंडिया और अफगानिस्तान के बीच हो चुकी समीक्षा मैच के बारे में। यह मैच बहुत मजेदार रहा है किसी ने भी आइडिया नहीं कर सका की कौन सी टीम की जीत होगी। भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला लिया था। भारत की ओर से सलामती बल्लेबाजी करने के लिए रोहित शर्मा और केएल राहुल आया था। केएल राहुल एसे भारतीय टीम में चौथा या पांचवा नंबर पर खेलता है लेकिन शिखर धवन को चोट लगने के कारण उनके जगह पर केएल राहुल को मौका दिया गया है जोकि पिछला मैच में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था। सभी भारतीय फैंस को उम्मीद था कि अफगानिस्तान के साथ मैच है इसलिए भारत को शायद टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला सही लिया गया था । और उम्मीद था कि आज कम से कम 400 की स्कोर के आसपास भारतीय बल्लेबाज रन बना सकता है किंग की अफगानिस्तान की टीम विश्व रैंकिंग में इतना अच्छा नहीं है। लेकिन जैसे ही मैच शुरू हुआ था दूसरे ओवर में ही रोहित शर्मा को नवीद के 1 गेंद चकमा दिया था और सीधा जाकर स्टंप पर गेंद लगी। रोहित शर्मा ने 10 गेंद खेलकर मात्र 1 रन बनाकर आउट हो गए थे । यह एक भारतीय टीम के लिए बहुत बड़ा झटका था। उसके पश्चात भारतीय कप्तान विराट कोहली बल्लेबाजी करने आया था। विराट कोहली और केएल राहुल ने कुछ ओवर तक अच्छा खेला था लेकिन एक खराब शॉट के कारण केएल राहुल आउट हो गया था। इसी तरह एक के बाद एक विकेट आता रहा और ज्यादा रन नहीं बना कर आउट हो जा रहा था। इस मैच में केदार यादव और विराट कोहली ने अच्छा खेला था । अगर इन दोनों ने थोड़ी बहुत रन नहीं बनाता तो इंडिया की बहुत बुरी हाल होती । जो भी हो अंत में इंडिया ने कुल 08 विकेट के नुकसान पर 50 ओवर में मात्र 224 रन बना पाया था जोकि भारतीय टीम के लिए इतना अच्छा स्कोर नहीं था।

दूसरी पारी में अफगानिस्तान को जीतने के लिए 50 ओवर में कूल 225 रन की पीछा करना था जोकि उनके लिए एक बहुत बड़ा मौका था एक बड़े टीम के विरुद्ध जीत हासिल करने का। पहले कुछ ओवर तो उन्होंने ठीक खेला था। ज्यादा रन नहीं बना पाया था लेकिन विकेट नहीं गवा रहा था उनके लिए यह एक प्लस पॉइंट था। परंतु जैसे सलामती बल्लेबाज आउट हो चुका था उसके पश्चात कोई भी एक खिलाड़ी इतना अच्छा खेल नहीं पा रहा था। एक के बाद एक आ रहा था और कुछ रन बनाकर आउट हो जा रहा था l अफगानिस्तान टीम को उस समय एक लंबे पारी खेलने के लिए दो खिलाड़ी चाहिए थे लेकिन भारतीय गेंदबाज के सामने कोई भी खिलाड़ी ज्यादातर समय नहीं टिक पाए थे और अंत में मुकाबला बराबर का हो रहा था। बहुत कोशिश करने के बाद अफगानिस्तान की खिलाड़ी ने अंत तक खेल नहीं पाया और एक छोटा सा टारगेट की पीसा कर नहीं पाया था। अंत में 10 विकेट के नुकसान पर 49.5 गेंद खेलकर कुल 213 रन ही बना पाया था। मुझे लगता नहीं कि ऐसा मौका और अफगानिस्तान टीम को अगले कुछ मैच में मिलेगा। यह उनके लिए एक बहुत बड़ा मौका था लेकिन वह भी गवा दिया। भारतीय गेंदबाजों ने कल बहुत अच्छा बोलिंग किया था जिसके कारण अफगानिस्तान टीम 224 रन के पीछा नहीं कर पाया। अंत में भारतीय टीम 11 रन से इस मैच में जीत हासिल की है।

Quote - "Failure will never overtake me if my determination to succeed is strong enough".

Author- Og Mandino

With Regards @muchukunda